Symptoms of Calcium Deficiency in Hindi – क्या आपके शरीर में भी कैल्शियम की कमी है? जानिए लक्षण और उपचार

Calcium Deficiency In Hindi

Calcium Deficiency in Hindi : शरीर में प्रत्येक पोषक तत्व की अपनी अलग भूमिका होती है। इन्हीं पोषक तत्वों में से एक है कैल्शियम। कैल्शियम एक महत्वपूर्ण खनिज है। आपका शरीर इसका उपयोग दांतों और हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए करता है।

साथ ही यह मांसपेशियों को मजबूत बनाने में भी अहम भूमिका निभाता है। कैल्शियम के अन्य कई फायदे भी हैं, जिसके बारे में आप इस लेख में जानेंगे।

आप इस लेख में जानेंगे की कैल्शियम की कमी क्या है, कैल्शियम की कमी होने का कारण, लक्षण और साथ ही कैल्शियम की कमी का इलाज, तो अंत तक हमारे लेख को पढ़ें।

तो चलिए सबसे पहले जान लेते है कैल्शियम की कमी क्या है – Calcium ki kami kya hai

कैल्शियम की कमी क्या है? – What is Calcium Deficiency in Hindi

कैल्शियम की कमी का मतलब है कि रक्त में कैल्शियम का स्तर कम हो जाना,  जिसे हाइपोकैल्सीमिया भी कहा जाता है। जब हम कम कैल्शियम युक्त आहार का सेवन करते है तो शरीर में कैल्शियम की कमी हो जाती है। इसे ही हम Calcium Deficiency का नाम देते है।

जब रक्त में कैल्शियम का स्तर कम हो जाता है तो तब शरीर के अन्य अंग जैसे दाँत, आंख, मस्तिष्क इत्यादि पर दुष्प्रभाव पड़ने लगता है।

हालांकि, शोधकर्ताओं ने इस संबंध में कई शोध किए हैं। एनसीबीआई की साइट पर एक शोध के अनुसार, कैल्शियम की दैनिक आवश्यकता हर किसी के लिए अलग होती  है। जैसे –

  • 3 साल की उम्र के बच्चों के लिए 700 मिलीग्राम, हर रोज

  • 4 से 8 साल की उम्र के बच्चों के लिए 1,000 मिलीग्राम, हर रोज

  • 13 साल की उम्र के बच्चों के लिए 1,300 मिलीग्राम, हर रोज

  • 14 से 18 साल की उम्र के बच्चों के लिए 1300 मिलीग्राम, हर रोज

  • 19 से 50 साल की उम्र के लिए 1,000 मिलीग्राम, हर रोज

  • फिर 70 वर्षीय पुरुषों के लिए 1,000 मिलीग्राम, हर रोज

  • 70 से अधिक उम्र के लिए 1200 मिलीग्राम, हर रोज

कैल्शियम की कमी के कारण – Causes of Calcium Deficiency in Hindi

अक्सर लोग पूछते है कि कैल्शियम की कमी के कारण बताएं, देखें आज  के समय का खाना सेहतमंद नहीं है, बहार की उत्त पटांग चीजों से कैल्शियम की कमी का कारण बन सकता है। ऐसा नहीं है की बहार की चीजों से ही शरीर में कैल्शियम की कमी होती है, हमने नीचे कुछ कैल्शियम की कमी के कारण बताएं है उन्हें पढ़ना न भूले।

कैल्शियम की कमी होने के कारण – calcium ki kami ke karan

न्यूट्रिएंट्स की कमी के कारण – due to lack of nutrients

शोधकर्ताओं का कहना है कि शरीर में विटामिन-डी, मैग्नीशियम और फास्फोरस जैसे महत्वपूर्ण पोषक तत्वों की कमी के कारण शरीर में कैल्शियम नहीं बढ़ता है।

इन पोषक तत्वों की कमी से शरीर में कैल्शियम का स्तर कम रहता है। विटामिन-डी, फास्फोरस और मैग्नीशियम सभी शरीर में कैल्शियम को बढ़ाने में सहायक होते हैं।

कैल्शियम युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन न करने से – By not consuming calcium rich foods

शरीर में कैल्शियम की कमी का मुख्य कारण कैल्शियम युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन नहीं करना भी है। क्योंकि कैल्शियम युक्त खाद्य पदार्थ शरीर में कैल्शियम को भी बढ़ाते हैं, अगर आप कैल्शियम युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन नहीं करते हैं, तो इससे मांसपेशियों में क्रैम्प, हड्डियों में कमजोरी, रक्त वाहिकाओं का सिकुड़ना, हृदय संबंधी रोग जैसे रोग भी हो सकते है।

उम्र भी शरीर में कैल्शियम का कारण है – Age is also the cause of calcium in the body

उम्र बढ़ना भी एक मुख्य कारण है। जैसे-जैसे हमारी उम्र बढ़ती है वैसे वैसे शरीर भोजन से कैल्शियम को अवशोषित करने में कमजोर हो जाता है।  इसिलए 70 से अधिक बुजुर्ग लोगों को अधिक मात्रा में कैल्शियम का सेवन करना चाहिए।

कैल्शियम की कमी के अन्य कारण – Calcium ki kami ke karan in hindi

  • शरीर में कैल्शियम की कमी ज्यादातर आहार में कैल्शियम युक्त भोजन न करने के कारण होती है।

  • अधिकांश महिलाओं में कैल्शियम की कमी इसलिए होती है क्योंकि महिलाओं को मासिक धर्म, गर्भावस्था, स्तनपान और देर से रजोनिवृत्ति जैसे कुछ चरणों से गुजरना पड़ता है।

  • ज्यादा दिनों तक धूप न लेने से।

  • विटामिन सी की कमी से।

  • सोडा पीने से भी .

  • अधिक कैफीन के सेवन से।

  • सोडियम युक्त खाद्य पदार्थों का अधिक सेवन से।

कैल्शियम की कमी के लक्षण – Calcium Deficiency Symptoms in Hindi

स्वाभाविक रूप से मनुष्य सोचता है कि calcium ki kami ke lakshan  को पहचानकर इसका इलाज किया जाना चाहिए, क्योंकि अगर इसके लक्षणों को पहचान लिया जाए और सही समय पर इलाज किया जाए तो आप इस समस्या से छुटकारा पा सकते हैं।

चलिए अब जानते है कैल्शियम की कमी के होने के लक्षण – calcium ki kami ke lakshan in hindi

मांसपेशियों में क्रैम्प – Muscle Cramps for symptoms of low calcium in hindi

मांसपेशियों में क्रैम्प की समस्या parathyroid gland की खराबी और कैल्शियम की कमी के कारण हो सकती है। प्रारंभिक अवस्था में कैल्शियम की कमी के लक्षण मांसपेशियों में क्रैम्प है।

जीभ, होंठ, उंगलियों और पैरों में झनझनाहट – tingling in the tongue, lips, fingers, and feet

जीभ, होंठ, उंगलियों और पैरों में झुनझुनी एक सामान्य लक्षण है। इसमें मुंह के आसपास झनझनाहट, सुन्नता महसूस होना, इसके साथ ही जीभ, होंठ, उंगलियों और पैरों में झुनझुनी होना भी इसके लक्षणों में शामिल है।

कैल्शियम की कमी के अन्य लक्षण – Other symptoms of calcium deficiency

  • आपकी हड्डियों का कमजोर होना, उठने ओर बैठने में दर्द  महसूस होना।

  • मांसपेशियों में अकड़न और दर्द होना।

  • बहुत जल्दी थक जाना।

  • कमजोर दांत, कमजोर नाखून, झुकी हुई कमर, बालों का टूटना या झड़ना कैल्शियम की कमी के लक्षण हैं।

  • नींद ना आना, डर लगना और दिमाग चिंतित रहना भी lack of calcium symptoms in hindi के लक्षण है।

  • शरीर का सुन्न होना, हाथ-पैरो में झुनझुनी होना।

  • स्मरणशक्ति (याददाश्त) होना और अधिक डिप्रेशन (depression) में रहना।

और पढ़ें :- पेट के कीड़े होने के कारण, लक्षण और बचाव के उपाय – Pet Me Kide Ke Gharelu Upay In Hindi

कैल्शियम की कमी से होने वाले रोग – Calcium Deficiency Diseases in Hindi

नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन की एक रिपोर्ट के मुताबिक कैल्शियम की कमी से शरीर में कई बीमारियां हो सकती हैं। कैल्शियम की कमी से होने वाले रोग इस प्रकार हैं –

तो चलिए जानते है कैल्शियम की कमी से होने वाले रोग – Calcium ki kami se hone vale rog

  • ऑस्टियोपोरोसिस (Osteoporosis)

  • हृदय रोग (Heart Disease)

  • उच्च रक्तचाप (High Blood Pressure)

  • कैंसर (Cancer)

  • टेटनी​ (Tetany)

  • रिकेट्स (सूखा रोग)

और पढ़ें :- वायरल बुखार के लक्षण, घरेलू उपचार और बचाव के उपाय – Symptoms, Causes And Home Remedies For Viral Fever In Hindi

कैल्शियम की कमी को पूरा करने के लिए कैल्शियम युक्त खाद्य पदार्थ – Calcium rich foods to meet calcium deficiency

अक्सर लोग पूछते हैं कि कैल्शियम की कमी में क्या खाना चाहिए और calcium ki kami ko pura kaise Karen, देखिए कैल्शियम की कमी को पूरा करने के लिए कैल्शियम युक्त खाद्य पदार्थों (calcium rich foods) का सेवन करना बहुत ही फायदेमंद होता है।

यहां हमने एक शोध में मिले कुछ ऐसे खाद्य पदार्थों की सूची तैयार की है, जो पूरी तरह से कैल्शियम से भरपूर होते हैं।

तो चलिए जानते है Calcium deficiency diet in hindi

हरी सब्जियां है कैल्शियम से भरपूर – Green vegetables are rich in calcium

हरी सब्जियां कैल्शियम से भरपूर होती हैं। हरी सब्जियों में कैल्शियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है। जो शरीर में कैल्शियम के स्तर को पूरा करता है। हरी सब्जियों में कैल्शियम के मुख्य स्रोत ब्रोकली, केल, सोयाबीन, पालक आदि।

फलों में है भरपूर कैल्शियम – Fruits are rich in calcium 

हरी सब्जियों के अलावा फलों में कैल्शियम भी भरपूर मात्रा में पाया जाता है। अगर आप कैल्शियम के स्तर को बढ़ाना चाहते हैं तो नाशपाती, संतरा, कीनू, कीवी, शहतूत और ब्लैकबेरी जैसे फल खा सकते हैं।

डेयरी प्रोडक्ट्स में है कैल्शियम भरपूर – Dairy products are rich in calcium

डेयरी प्रोडक्ट्स (दूध से बने उत्पाद) में भी उचित मात्रा में कैल्शियम पाया जाता है। दूध, मलाई, दही, मोजरेला आदि कैल्शियम से भरपूर खाद्य पदार्थ हैं। इसके आलावा आइसक्रीम और कॉटेज पनीर में भी उचित मात्रा में कैल्शियम पाया जाता है।

सीफूड खाने से भी कैल्शियम की पूर्ति – Calcium is also supplied by eating seafood

सीफूड (समुद्री भोजन) में भी कैल्शियम की उचित मात्रा पाई जाती है। अगर आप नॉन वेजिटेरियन है तो एक बार सीफूड ट्राई करें, क्योंकि सीफूड कैल्शियम से भरपूर होते है। सीफूड में जैसे साल्मन फिश और टूना फिश इत्यादि।

विटामिन डी युक्त पदार्थों को शामिल करें – Include vitamin D Substances

आपको सूरज की रोशनी से भी विटामिन डी मिलता है, लेकिन यह सुबह 8-10 बजे ही मिलता है, इसलिए आपको अपने आहार में कुछ ऐसे पदार्थों को भी शामिल करना चाहिए, जो आपको विटामिन डी की आपूर्ति करते हैं जैसे:- वसायुक्त मछली, दूध, अनाज, पनीर , अंडा, मक्खन आदि।

मैग्नीशियम युक्त पदार्थों का सेवन – Magnesium-Rich Foods

जिस प्रकार हमारे शरीर को कैल्शियम की आवश्यकता होती है, ठीक उसी प्रकार हमे मैग्नीशियम की भी आवश्यकता होती है, इसीलिए अपने भोजन में कुछ ऐसे पदार्थो का सेवन करें को  मैग्नीशियम से भरपूर हो। जैसे – पालक, शलजम, सरसों, ब्रोकली, एवोकैडो, खीरा, हरी बीन्स, साबुत अनाज, कद्दू के बीज, तिल, बादाम और काजू आदि।

कैल्शियम के लिए पपीते का सेवन – Calcium ki Kami ko Pura karne ke liye Papita ka Sevn

पपीता विटामिन सी से भरपूर होता है, जो कैल्शियम की कमी को दूर करता है। शोध में पाया गया है कि जिन लोगों में विटामिन सी की कमी होती है उनमें जोड़ों का दर्द होना आम बात है, इसलिए उन्हें नियमित रूप से पपीते का सेवन करना चाहिए, ताकि कैल्शियम की कमी को दूर किया जा सके।

और पढ़ें :- स्लिप डिस्क की समस्या से निजात पाने के लिए अपनाएं ये उपाय – Symptoms Of Slipped Disc In Hindi

कैल्शियम की कमी का इलाज – Calcium Deficiency Treatment in Hindi

Calcium Deficiency Treatment in Hindi

कैल्शियम की कमी से बचने के लिए जितनी जल्दी हो सके calcium ki kami ka ilaj करना चाहिए, यहां हमने कुछ calcium ki kami ka ayurvedic ilaj बताया है, उन्हें अपनाना न भूले।

तो चलिए जानते है कैल्शियम की कमी का आयुर्वेद इलाज – calcium ki kami ka ilaj in hindi

खानपान में बदलाव करना – Change in Diet

कैल्शियम की कमी को दूर करने का सबसे आसान और सरल तरीका है खानपान में बदलाव। अगर आप कैल्शियम की कमी से जूझ रहे हैं तो आपको अपने आहार में कैल्शियम युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए।

अक्सर लोग पूछते हैं कि calcium ki kami ke liye kya karna chahie, देखिए, डॉक्टर्स की सलाह है कि कैल्शियम की कमी को पूरा करने के लिए कैल्शियम युक्त भोजन का सेवन करना चाहिए।

कैल्शियम को पूरा करने के लिए सप्लीमेंट्स का सेवन – Consumption of supplements to meet calcium

कैल्शियम की कमी को पूरा करने के लिए कैल्शियम सप्लीमेंट का सेवन करना चाहिए। क्योंकि कैल्शियम युक्त पदार्थो में हमे पूर्ण रूप से कैल्शियम नहीं मिल पाता है इसलिए हमे कैल्शियम को पूरा करने के लिए कैल्शियम सप्लीमेंट (calcium supplements) का सेवन करना चाहिए।

आजकल किसी भी केमिस्ट की शॉप पर कैल्शियम सप्लीमेंट आसानी से मिल जाता है।

कैल्शियम की दवाई का सेवन – Consumption of calcium medicine

कैल्शियम सप्लीमेंट के अलावा हमे डॉक्टर्स की सलाह से कैल्शियम की दवाओं का सेवन करना चाहिए। ये दवाईयाँ शरीर में कैल्शियम की सही मात्रा को बनाए रखने तथा कैल्शियम की कमी को पूरा करने में मदद करती है।

एक्सरसाइज करना – To Exercise

शरीर को स्वस्थ रखने के लिए हल्का व्यायाम करना बहुत ही जरूरी है। क्‍योंकि व्‍यायाम से हम कई समस्‍याओं को ठीक कर सकते हैं। इन्हीं समस्याओं में से एक है कैल्शियम की समस्या।

अगर आप कैल्शियम युक्त खाद्य पदार्थों के साथ हल्का व्यायाम करते हैं तो यह आपके लिए बहुत फायदेमंद होगा।

और पढ़ें :- मिर्गी के लक्षण और इलाज – Symptoms Of Epilepsy In Hindi

कैल्शियम की कमी से बचने के उपाय – Measures to avoid calcium deficiency in Hindi

कैल्शियम की कमी से होने वाली समस्याओं से आप आसानी से बच सकते हैं। अगर आप पहले से ही इस समस्या से दूर रहते हैं तो इससे होने वाली बीमारियों से भी बच सकते हैं।

इन सभी बीमारियों से बचने के लिए आपको पर्याप्त मात्रा में कैल्शियम का सेवन करना बेहद जरूरी है। यहां हमने कैल्शियम की कमी से बचने के कुछ आसान उपायों के बारे में बताया है, इन्हें पढ़ना न भूलें।

तो चलिए जानते कैल्शियम की कमी से बचने के उपाय – calcium ki kami se bachne ka tarika in hindi

स्वस्थ आहार अपनाना – Adopting a Healthy Diet

हमने पहले भी बताया है कि कैल्शियम की कमी को दूर करने के लिए सबसे आसान और सरल तरीका हेल्थी डाइट अपनाना है। क्योंकि हेल्थी डाइट अपनाने से ही हम कैल्शियम की कमी की पूर्ति कर सकतें है।

हेल्थ चेकअप कराना – Get Health Checkup

3 से 4 महीने में हेल्थ चेकअप होना बहुत जरूरी है। क्योंकि हेल्थ चेकअप से ही हमें अपनी बीमारियों के बारे में पता चलता है।

अगर आप अपना हेल्थ चेकअप कराते हैं तो आपको अपनी बीमारियों के बारे में पता चलता है और यह भी पता चलता है कि हमारे शरीर में किसी बीमारी के लक्षण हैं या नहीं।

और बीमारी को पहले से जान लेने से ही हम इन उपचारों के माध्यम से इन सभी समस्याओं से बच सकते हैं।

डॉक्टर के संपर्क में रहना – Keeping in touch with the doctor

डॉक्टर के संपर्क ही हम कैल्शियम की कमी का इलाज या अन्य किसी बीमारी का इलाज ढूंढ सकते है। आपको अपने नजदीकी डॉक्टर के  संपर्क में रहना चाहिए।

और पढ़ें :- उल्टी रोकने के 8 आसान घरेलू उपाय – Home Remedies To Stop Vomiting In Hindi

निष्कर्ष – Conclusion

कैल्शियम की कमी के कारण कभी-कभी बड़ी समस्याओं का भी सामना करना पड़ सकता है, इसलिए आप इन उपायों को अपनाकर इन सभी  समस्याओं से बच सकते हैं।

आशा करता हूँ की अब आप calcium ki kami ke liye kya karna chahie जान गए होंगे। अगर आप कैल्शियम की कमी से संबंधित सही जानकारियां हासिल करना चाहते है तो एक बार हमारे लेख पर नजर डालें।

अगर आपको symptoms of low calcium in hindi के लेख से संबंधित कोई सवाल या सुझाव है तो हमे कमेंट के जरिये जरूर बताएं।

और पढ़ें :- हेल्थ की श्रेणी के बारे में

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *