सुहागरात पर दूल्हे को क्यों पिलाया जाता है दूध

Suhagrat ke din dulhe ko kyo pilaya jata hai dudh

शादी की पहली रात, Suhagrat पर, अधिकांश विवाहित जोड़ों को केसर और बादाम का दूध पीने के लिए दिया जाता है। क्या आप जानते हैं कि सदियों से चली आ रही इस परंपरा के पीछे कौन सा वैज्ञानिक कारण छिपा हुआ है?

विवाह दो आत्माओं का मिलन है। विवाह की पहली रात यानि सुहागरात पर दोनों प्रेमी जोड़े एक हो जाते है। इस रात को यादगार बनाने के लिए, दूल्हे के परिवार वाले दम्पति के कमरे को अच्छे से सजाते हैं और दुल्हन के हाथ में एक केसर, बादाम और दूध से बना गिलास दूल्हे को देने के लिए कहते हैं। क्या आप जानते, इस दिन दूध का एक गिलास बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

आपने अक्सर फिल्मों या नाटकों में देखा होगा कि शादी की पहली रात दूल्हे और दुल्हन के लिए कितनी खास होती है। दुल्हन दूल्हे के लिए एक गिलास दूध का ले जाती है।

 वह इस रात को यादगार बनाने के लिए तैयार रहते हैं। इस रात को यादगार बनाने के लिए वह अपनी दूरी कम कर देते है और एक हो जाते है।

सदियों से चली आ रही पहली रात, सुहागरात पर दूध पिलाने की परंपरा काफी प्राचीन है। यह अब शादी-शुदा दम्पति के लिए अहम हिस्सा बन चुका है। यदि आपको भी अपने हनीमून (सुहागरात) पर दूध से भरा गिलास पीने को दिया गया, तो वाकई इसके पीछे कोई तर्क छिपा हुआ है।

इसी तर्क से रूबरू करने के लिए हम आपको बतायेगे की इस दिन दूध के ग्लास का कितना महत्व है।

तो आइए जानते हैं सुहागरात के दिन दूल्हे को दूध पिलाने का महत्व

सुहागरात के दिन दूध पिलाने के कारण (Suhagrat ke din dudh pilane ke karan)

शादी की पहली रात यानी सुहागरात पर दोनों विवाहित जोड़े के मन में जिज्ञासा बनी रहती है। ऐसे में दूल्हे का परिवार इस पल को यादगार बनाने के लिए कई काम करते है। जैसे कमल और गेंदे के फूल से बिस्तर सजाना, कमरे को सुगंधित रखना और रोमांटिक रोशनी की व्यवस्था करना।

साथ ही वह दुल्हन को केसर और बादाम से बना दूध दुल्हे को देने के लिए कहती है। इसके पीछे क्या कारण है हम आपको इस लेख में बताएंगे।

तो आइए जानते हैं Suhagrat ke din dudh pilane ke karan

विवाह दो जिस्मो का मिलन नहीं है, बल्कि दो आत्माओं का मिलन है। इस समय दो अजनबी दूध के जरिए एक-दूसरे को जानने की कोशिश करते हैं। वे इस दूध के माध्यम से अपने दिल की सभी भावनाओं को उजागर करते हैं और एक हो जाते हैं।

सुहागरात को दूध पीने के फायदे (Suhagrat ko dudh peene ke fayde)

Suhagrat Ko Dudh Peene Ke Fayde
Suhagrat Ko Dudh Peene Ke Fayde

तो आइये जानते है शादी की पहली रात यानी सुहागरात पर दूध पिलाने से होते है क्या फायदे

  1. हार्मोन में सुधार (Improve hormones)

  2. प्रजनन कोशिकाओं को पोषण दे (Nourish the reproductive cells)

  3. यौन गतिविधि बढ़ाएं (Increase sexual activity)

  4. दूध ऊतकों को मजबूत बनाता है (Milk makes tissues strong)

  5. इम्यूनिटी और पाचन बढ़ाए (Boost immunity and digestion)

  6. मूड और नींद सुधारे (Improve mood and sleep)

हार्मोन में सुधार (Improve hormones)

टेस्टोस्टेरोन और एस्ट्रोजन नामक दो सेक्स हार्मोन दूध में मौजूद प्रोटीन की सहायता से बनते हैं। इसलिए दूल्हे को दूध और बादाम का प्रोटीन युक्त मिश्रण दिया जाता है ताकि उसके हार्मोन का स्तर बना रहे और वे दोनों अच्छी तरह से संतुष्ट हो सकें।

प्रजनन कोशिकाओं को पोषण दे (Nourish the reproductive cells)

शोध से पाया गया है की  दूध एक सात्विक और पौष्टिक आहार है। यह वात और पित्त के बीच संतुलन स्थापित करने की शक्ति रखता है। यह कामोत्तेजक के रूप में भी काम करता है और प्रजनन कोशिकाओं को भी पोषण देता है।

यौन गतिविधि बढ़ाएं (Increase sexual activity)

यदि दूध में केसर या शिलाजीत आदि मिलाकर पिलाया जाए तो यह पुरुष प्रजनन प्रणाली के लिए अच्छा साबित होगा। यह आपकी यौन गतिविधि को बढ़ाता है और आपको बिस्तर पर अच्छा प्रदर्शन करने में मदद करता है। नियमित दूध के सेवन से कामेच्छा, वीर्य की संख्या और गतिशीलता में भी वृद्धि होती है।

दूध ऊतकों को मजबूत बनाता है (Milk makes tissues strong)

कामसूत्र के संकेतों के अनुसार, यदि ताजा दूध में सौंफ का रस, शहद,  नघपान और चीनी मिलाकर पिया जाए, तो ऊतकों को मजबूती मिलती है। यह आपको सेक्स करने की चाह को उत्तेजित करता है और आपके दिन को यादगार बनाता है।

इम्यूनिटी और पाचन बढ़ाए (Boost immunity and digestion)

आयुर्वेद के अनुसार, प्रजनन ऊतकों को ऊर्जा देने के लिए दूध अहम रोल निभाता है। यह दिमाग को तेज बनाता है, शरीर की प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि करता है और पाचन क्रिया को मजबूत बनाता  है। यह रात को अच्छे प्रदर्शन के लिए आपकी काफी हद तक सहायता करता है।

मूड और नींद सुधारे (Improve mood and sleep)

दूध में vitamin D होता है जो मस्तिष्क में सेरोटोनिन नामक हार्मोन का उत्पादन करने में मदद करता है। इससे न केवल मूड (mood)ठीक होता है, बल्कि भूख और नींद भी आती है। यह अवसाद और थकान से भी छुटकारा दिलाता है। यह आपके सेक्स के मूड को भी बनाए रखता है और साथ ही आपको ऊर्जा प्रदान करता है।

क्यों बेड और कमरे को सुहागरात पर सजाया जाता है (Suhagrat ke din bistar or kamre ko kyo sajaya jata hai )

नवविवहित जोड़ों के लिए शादी की पहली रात बहुत यादगार होती है। शादी की पहली रात शादी-शुदा जोड़ों को एक दूसरे के करीब लाती हैं और एक होने का सुन्हेरा अवसर प्रदान करती हैं।

Suhagrat के समय उनके परिवार वाले उनके लिए बिस्तर और कमरे को सजाते हैं। ऐसा क्यों किया जाता है ?

ऐसा इसलिए किया जाता है ताकि शादी-शुदा जोड़े एक-दूसरे के करीब आ सकें।

उनके बिस्तर और कमरे को गेंदे और कमल के फूल से सजाया जाता है। क्योंकि गेंदे और कमल के फूल से हवा मनमोहित हो जाती है और उनके मन पर प्रभाव डालती है।  उनकी इच्छा प्रबल हो जाती है। अर्थात शरीर उत्तेजित हो जाता है और दोनों विवाहित जोड़े एक दूसरे के करीब आ जाते हैं।

निष्कर्ष (conclusion)

ऊपर आप जान ही गए होंगे कि दुल्हन दूल्हे के लिए दूध और केसर से भरा ग्लास लेकर क्यों जाती है।

इसके पीछे कई कारण थे, अगर आप भी अपने पार्टनर के लिए केसर और बादाम से बना दूध लेकर जाती है तो यह आपके लिए बहुत फायदेमंद साबित होगा।

इसीलिए शादी की पहली रात को अपने और अपने साथी को सुंदर और यादगार बनाएं ताकि आप अपने जीवन में इस दिन को न भूलें सकें।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *