Sildenafil Tablet Uses in Hindi– सिल्डेनाफिल टैबलेट का उपयोग, खुराक और नुकसान

sildenafil tablet uses in hindi

Sildenafil tablet uses in hindi : सिल्डेनाफिल के इस्तेमाल से पुरुषों में यौन समस्याएं दूर होती हैं। यह पुरुषों में नपुंसकता या स्तंभन दोष (इरेक्टाइल डिसफंक्शन) जैसी यौन समस्याओं से छुटकारा दिलाता है। इसके अलावा, यह दवा पुरुषों को लिंग में रक्त के प्रवाह को बढ़ाकर इरेक्शन हासिल करने और बनाए रखने में मदद करता है।

यौन क्रिया सभी के लिए महत्वपूर्ण है। और हर कोई इसका भरपूर आनंद लेना चाहता है। लेकिन यह टेबलेट उन लोगों के लिए है जिनका यौन क्रिया के दौरान या उससे पहले जल्दी स्खलन हो जाता है या इरेक्टाइल डिसफंक्शन जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। ऐसी समस्याओं से पीड़ित लोगों के लिए यह टैबलेट बहुत कारगर है।

आगे हमने इस लेख में बताया है सिल्डेनाफिल टैबलेट का उपयोग, खुराक और नुक़्सानो के बारे में बताया है, तो अंत तक हमारे लेख को पढ़ें।

परिचय : introduction of sildenafil tablet uses in hindi

सिल्डेनाफिल पुरुषों में ईडी – इरेक्टाइल डिसफंक्शन के इलाज के लिए काम करता है। यह लिंग में रक्त के प्रवाह को बढ़ाकर इरेक्शन हासिल करने और बनाए रखने में मदद करता है।

इसके साथ ही इसका उपयोग फेफड़ों में उच्च रक्तचाप के इलाज के लिए भी किया जाता है। यह फेफड़ों में रक्त वाहिकाओं को खोलता है और रक्त को  आसानी से बहने देता है।

सिल्डेनाफिल दो ब्रांडों, वियाग्रा और रेवेटियो के साथ आता है। वियाग्रा नाम का  सिल्डेनाफिल का उपयोग पुरुषों में स्तंभन दोष (नपुंसकता) के इलाज के लिए किया जाता है। और रेवेटियो नाम का  सिल्डेनाफिल का उपयोग उच्च रक्तचाप के इलाज और पुरुषों के यौन प्रदर्शन को सुधारने के लिए किया जाता है।

रेवेटियो लेते समय वियाग्रा का सेवन न करें।

उपयोग : sildenafil tablet uses in hindi

यह दवाओं का एक वर्ग और समूह है। जो एक समान तरीके से काम करता है। इन दवाओं का उपयोग अक्सर समान स्थितियों के इलाज के लिए किया जाता है। जो इस प्रकार है।

इरेक्टाइल डिसफंक्शन के लिए sildenafil tablet का उपयोग

ED (नपुंसकता) के लिए – सिल्डेनाफिल लिंग में रक्त के प्रवाह को बढ़ाकर आपको इरेक्शन प्राप्त करने या बनाए रखने में मदद करता है। इसलिए इरेक्टाइल डिसफंक्शन होने पर  sildenafil tablet का उपयोग  करें।

पुल्मोनेरी आर्टेरियल हाइपरटेंशन के लिए सिल्डेनाफिल का उपयोग

PAH (फेफड़ो का उच्च रक्तचाप) – सिल्डेनाफिल मांसपेशियों को आराम देकर और आपके फेफड़ों में रक्त वाहिकाओं को खोलने का काम करता है और रक्त को  आसानी से बहने देता है।

वीडियो : Sildenafil Tablet Uses in Hindi

सिल्डेनाफिल का प्रयोग किस तरह  करें?

Sildenafil tablet का प्रयोग निम्नलिखित तरीकों से किया जा सकता है, जो इस प्रकार है।

यौन संबंध बनाने के कितने समय पहले सिल्डेनाफिल का उपयोग करना चाहिए?

सिल्डेनाफिल का उपयोग यौन संबंध बनाने से 4 घंटे पहले और यौन संबंध बनाने से 30 मिनट पहले तक किया जा सकता है। हालांकि, विशेषज्ञों द्वारा यौन संबंध बनाने के एक घंटे के भीतर इस दवा का उपयोग करने की सलाह देते हैं।

सिल्डेनाफिल कितनी बार लेना चाहिए?

इरेक्टाइल डिसफंक्शन के लिए सिल्डेनाफिल का उपयोग कभी भी 24 घंटे की अवधि में एक बार से अधिक बार नहीं किया जाना चाहिए। यदि आपकी कोई चिकित्सीय स्थिति है या आप अन्य दवाओं का सेवन करते है तो आपका डॉक्टर सिफ़ारिश कर सकता है कि आप सिल्डेनाफिल लेनी चाहिए या नहीं।

सिल्डेनाफिल को भोजन के साथ लेना चाहिए?

सिल्डेनाफिल भोजन के साथ या भोजन के बिना भी लिया जा सकता है। बस इस बात का ध्यान रखें की कुछ खाद्य पदार्थ विशेष रूप से उच्च वसा वाले दवा को सामान्य से अधिक धीरे-धीरे काम करने का कारण बनाते है, जिससे रिजल्ट आने में देरी हो सकती है।

नुकसान : sildenafil side effects in hindi

हालांकि सिल्डेनाफिल से कोई नुकसान नहीं होतें है, फिर भी यह कुछ स्थितियों में नुकसान पहुंचा सकता है। जिनमे शामिल है।

  • नाक से खून आना
  • सिर दर्द
  • जी मिचलाना
  • पेट खराब होना
  • उल्टी
  • गले में खरास
  • बहती नाक
  • बुखार
  • स्तंभन दोष
  • श्वसन संक्रमण
  • त्वचा का लाल होना
  • नींद न आना

ये प्रभाव कुछ दिनों या हफ्तों में अपने आप दूर हो जाते हैं। लेकिन अगर यह लंबे समय तक बने रहे तो अपने नजदीकी डॉक्टर को जरूर दिखाएं।

कुछ गंभीर नुकसान –

यदि आप गंभीर दुष्प्रभावों का अनुभव करते हैं, तो तुरंत अपने नजदीकी चिकित्सक को दिखाएँ। ये दुष्प्रभाव गंभीर लक्षण पैदा कर सकते हैं जो इस प्रकार हैं।

  • लौ ब्लड प्रेशर
  • धुंधला दिखना
  • भ्रम होना
  • सिर चकराना
  • बेहोशी
  • चक्कर आना
  • उलटी अथवा जी मिचलाना
  • नींद आना
  • दुर्बलता

खुराक : sildenafil tablet doses in hindi

  • सिल्डेनाफिल की खुराक ठीक उसी तरह लें जैसे आपको निर्धारित की गई है। इस दवा का सेवन करने से पहले इसके निर्देशों का पालन करें।
  • रेवेटियो को आमतौर पर लगभग 4 से 6 घंटे के अंतराल पर दिन में तीन बार लिया जा सकता है।
  • वियाग्रा आमतौर पर केवल जरूरत पड़ने पर ही ली जाती है, यौन क्रिया से 30 मिनट से 1 घंटे पहले। आप इसे यौन क्रिया से 4 घंटे पहले तक भी ले सकते हैं। वियाग्रा को दिन में एक से अधिक बार न लें।
  • जब आप उत्तेजित होते हैं तो वियाग्रा आपको इरेक्शन पाने में मदद कर सकता है। सिर्फ गोली लेने से इरेक्शन नहीं होगा। अपने डॉक्टर के निर्देशों का पालन करें।
  • यौन क्रिया के दौरान, यदि आपको चक्कर या मिचली आती है, या आपकी छाती, हाथ, गर्दन या जबड़े में दर्द, सुन्नता या झुनझुनी होती है, तो रुकें और तुरंत अपने डॉक्टर को बुलाएँ। आपको सिल्डेनाफिल का गंभीर दुष्प्रभाव हो सकतें है।

कुछ विशेष चेतावनियों पर ध्यान दें –

Priapism की समस्या

यह दवा प्रियापिज्म की समस्या का कारण बन सकती है। जो दूर नहीं होगी। यदि आपका इरेक्शन 4 घंटे से अधिक समय तक रहता है, तो जल्द ही अपने डॉक्टर से मिलें। क्योंकि अगर इसका तुरंत इलाज नहीं किया गया तो यह स्थिति आपके लिंग को स्थायी नुकसान पहुंचा सकती है।

आँखों की रौशनी में कमी

यह दवा आँखों की रौशनी में कमी का कारण बन सकती है। यह आंखों की गंभीर समस्या का संकेत हो सकता है। यदि ऐसा होता है, तो सिल्डेनाफिल लेना बंद कर दें और अपने डॉक्टर को दिखाएँ।

बहरापन

यह दवा कानों में बहरापन और अचानक कान बजने का कारण बन सकती है। ऐसा होने पर सिल्डेनाफिल लेना बंद कर दें और तुरंत अपने डॉक्टर को दिखाएं।

निष्कर्ष

इस लेख में दी गई जानकारी केवल सामान्य ज्ञान के लिए है, अगर आप इसका इस्तेमाल करना चाहते हैं तो सबसे पहले अपने नजदीकी डॉक्टर से सलाह लें।

हमें उम्मीद है कि आपको हमारा यह sildenafil tablet uses and side effects in hindi का लेख पसंद आया होगा। यह लेख आपके लिए उपयोगी है, इसलिए इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

इस लेख के अनुसार, हमने sildenafil table के उपयोग, दुष्प्रभाव, कब लेना है और कैसे लेना है, के बारे में पूरी जानकारी दी है। आप ऊपर पढ़ सकते हैं। अगर आपका कोई सुझाव या सवाल है तो हमें कमेंट के जरिए जरूर बताएं।

और पढ़ें : Hempushpa Syrup Uses In Hindi – हेमपुष्पा सिरप के फायदे, उपयोग और खुराक

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *