Shighrapatan Ka Ilaj – शीघ्रपतन की समस्या से ऐसे पाएं छुटकारा

Shighrapatan Ka Ilaj

पुरुषो का जल्दी वीर्य निकल जाना ही शीघ्रपतन या शीघ्र स्खलन कहलाता है। शीघ्रपतन का इलाज (Shighrapatan Ka Ilaj) करने के लिए हमारे आयुर्वेद में कई घरेलू दवाओं का उल्लेख किया गया है, और ये दवाएं साइड इफेक्ट्स से मुक्त हैं। और 100 फीसदी प्राकृतिक हैं।

शीघ्रपतन या शीघ्र स्खलन को अंग्रेजी भाषा में “Premature Ejaculation” भी कहा जाता है। कुछ लोग इसे सामान्य बोलचाल में  “Early Ejaculation” भी कहते हैं। यह समस्या पुरुषों में होने वाली आम समस्या है। विश्व के 30 से 40 फीसदी पुरुष इस समस्या से परेशान है।

यूएस नेशनल हेल्थ एंड सोशल लाइफ सर्वे (NHSLS) के मुताबिक 30 से 40 फीसदी वयस्क पुरुष Shighrapatan की समस्या से पीड़ित हैं। और इसके साथ ही आने वाले कुछ सदस्य इस समस्या की चपेट में आने वाले हैं।

इसलिए अगर आप इस समस्या से परेशान हैं तो खुद को अकेला मत समझिये, क्योंकि आपके जैसे बहुत से लोग है जो इस समस्या से परेशान है। अत: इसीलिए आज हम आपके लिए शीघ्रपतन का आयुर्वेदिक इलाज लेकर आएं, जो न सिर्फ शीघ्र स्खलन से छुटकारा  दिलाएगा बल्कि लम्बे समय तक योन संबंध बनाये रखने में भी मदद करेगा।

आइये सबसे पहले जानते है कि शीघ्रपतन क्या है?

शीघ्र स्खलन क्या है?

यौन सम्बन्ध बनाने से पहले या यौन सम्बन्ध बनाने के तुरंत बाद वीर्य का अनियंत्रित रूप से स्खलित होना ही शीघ्रपतन अर्थात शीघ्र स्खलन कहलाता है। साधारण तोर पर यौन संबंध बनाने के दौरान या इसके तुरत बाद वीर्य (स्पर्म) निकल जाना ही शीघ्रपतन कहलाता है।

यह कोई बीमारी नहीं बल्कि एक आम समस्या है। लेकिन अगर यह समस्या आपको लंबे समय तक अपना शिकार बनाए रखती है तो इसका आपके जीवन पर बहुत ही नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है।

शीघ्रपतन को रोकने के लिए कई दवाई और शीघ्र स्खलन का रामबाण इलाज पतंजलि भी मौजूद है जो इस समस्या से निजात दिलाने मे मदद करते है।

शीघ्रपतन को रोकने के लिए मार्किट में कई दवाएं और शीघ्र स्खलन का रामबाण इलाज पतंजलि भी मौजूद है जो इस समस्या से निजात दिलाने मे मदद करते है।

हमने नीचे शीघ्रपतन के कारण, शीघ्रपतन के इलाज और साथ ही शीघ्रपतन के आयुर्विद इलाज और शीघ्र स्खलन की होम्योपैथिक दवा का नाम भी बताया है, इन्हें पढ़ना न भूलें।

चलिए अब जानते है शीघ्रपतन होने के क्या कारण है?

शीघ्र स्खलन होने के क्या कारण है?

ऐसा कहा जाता है कि शीघ्रपतन का कोई सटीक कारण नहीं है। लेकिन डॉक्टर

आंशिक रूप से इसका कारण मनोवैज्ञानिक मानते है। साथ ही यह भी कहते है कि जिन लोगों का ब्रेन केमिस्ट्री कम से कम होता है उन्हें भी यह समस्या होती है। क्योंकि पुरुषों के दिमाग में रासायनिक सेरोटोनिन का स्तर कम होता है, जो स्खलन का कारण बनता है।

साथ ही कुछ अन्य कारण –

  1. शरीर में वीर्य और रक्त का अत्यधिक बनना

  2. शरीर में कम वीर्य

  3. शारीरिक और मानसिक बीमारी या कमजोरी

  4. ढीलापन या सुस्ती

  5. शरीर में टेस्टोस्टेरोन हार्मोन की कमी

  6. नशीले पदार्थों का सेवन

  7. मूत्रमार्ग या प्रोस्टेट का संक्रमण या सूजन

  8. शुक्राणुनाशक लेना

  9. मधुमेह होना

  10. अत्यधिक तनाव में रहना

  11. जेनेटिक

शीघ्र स्खलन का इलाज क्या है?

शीघ्र स्खलन के इलाज के लिए आज कई विकल्प मौजूद है जैसे कि शीघ्रपतन का घरेलु इलाज, शीघ्र स्खलन का रामबाण इलाज पतंजलि, शीघ्र स्खलन का आयुर्वेदिक इलाज और शीघ्र स्खलन की होम्योपैथिक दवा। आइए इन सभी को स्टेप बाय स्टेप जानते हैं।

1. शीघ्र स्खलन का घरेलू इलाज

शीघ्र स्खलन का घरेलू इलाज

शीघ्रपतन के घरेलू उपाय निम्नलिखित हैं। आप इन सभी नुस्खों को घर पर ट्राई कर सकते हैं। यह बिल्कुल 100% प्राकृतिक है।

अदरक से करें शीघ्र स्खलन का इलाज

शीघ्रपतन के इलाज के लिए अदरक एक अचूक घरेलू उपाय है। इसके सेवन से लिंग में रक्त संचार तेजी से बढ़ता है जिससे शीघ्रपतन की समस्या को काफी हद तक नियंत्रित किया जा सकता है। रात को सोने से पहले एक चम्मच अदरक के पेस्ट को शहद में मिलाकर चाटें। इस नुस्खे को कुछ दिनों तक रोजाना सेवन करने से शीघ्रपतन की समस्या नियंत्रित हो जाएगी।

प्याज से करें शीघ्र स्खलन का घरेलू उपचार

Onion – प्याज का सेवन हर तरह की यौन समस्याओं के इलाज में कारगर माना जाता है। प्याज हर किसी के घर में आसानी से मिल जाता है, इसलिए शीघ्रपतन का इलाज करने का यह सबसे आसान तरीका है। घर में इस्तेमाल होने वाले आम प्याज के साथ-साथ हरा प्याज भी इस बीमारी के इलाज में फायदेमंद होता है।

प्याज के बीज में कामोत्तेजक (aphrodisiac) गुण होते हैं, जिसके कारण यह शीघ्रपतन की समस्या से निजात दिलाने में मददगार होता है। प्याज के बीजों का चूर्ण एक गिलास पानी में दिन में तीन बार खाना खाने से पहले मिलाकर पीने से कुछ ही दिनों में शीघ्रपतन की समस्या दूर हो जाती है।

अरंडी का तेल है फायदेमंद शीघ्र स्खलन की दवा के रूप में

शीघ्रपतन की समस्या लिंग के कमजोर होने के कारण भी होती है। शीघ्रपतन की समस्या से छुटकारा पाने के लिए और लिंग की कमजोरी को दूर करने के लिए अरंडी के तेल से लिंग के ऊपरी हिस्से की मालिश करें।

भिंडी है लाभदायक शीघ्र स्खलन की घरेलू दवा के रूप में

भिंडी का पाउडर शीघ्रपतन की समस्या के लिए रामबाण औषधि है। रोज रात को सोने से पहले एक गिलास दूध में 10 ग्राम भिंडी का चूर्ण मिलाकर पीने से आपको फर्क दिखने लगेगा। इस नुस्खे का असर धीरे-धीरे होता है इसलिए करीब एक महीने तक इस नुस्खे को आजमाएं।

लहसुन से करें shighrapatan ka desi ilaj

लहसुन के सेवन से रक्त संचार तेजी से बढ़ता है इसलिए इसका सेवन सभी प्रकार की यौन समस्याओं के उपचार में लाभकारी होता है। शीघ्रपतन से पीड़ित लोगों के लिए लहसुन एक जड़ी बूटी की तरह काम करता है। शीघ्रपतन की समस्या से पूरी तरह छुटकारा पाने के लिए लहसुन की दो से तीन कलियों को कुछ दिनों तक रोजाना चबाकर खाएं।

2. शीघ्र स्खलन का आयुर्वेदिक इलाज

शीघ्र स्खलन का आयुर्वेदिक इलाज

छुहारा है लाभदायक शीघ्रपतन के आयुर्वेदिक इलाज के लिए

छुहारा खाने से वीर्य गाढ़ा हो जाता है और वीर्य जल्दी नहीं निकलता है।। शीघ्रपतन से छुटकारा पाने के लिए यह एक प्रभावी आयुर्वेदिक उपचार है। यदि आप शीघ्रपतन के शिकार हैं तो रोजाना दूध में भिगोकर सूखे खजूर का सेवन करें। खजूर को दूध में मिलाकर खाने से खजूर के गुण बढ़ जाते हैं। जो इस समस्या से निजात दिलाने में मदद करते हैं।

जामुन है फायदेमंद शीघ्र स्खलन के आयुर्वेदिक उपचार के लिए

जामुन की गुठली शीघ्रपतन के इलाज में फायदेमंद होती है। जामुन की गुठली को सुखाकर महीन चूर्ण बना लें। अब इस चूर्ण को कुछ दिनों तक रोज सुबह-शाम गर्म दूध के साथ लें।

मूसली पाक का सेवन है फायदेमंद

अगर आप शीघ्रपतन का इलाज आयुर्वेदिक दवा से करना चाहते हैं तो बाबा रामदेव की मूसली पाक का सेवन करें। शीघ्रपतन के इलाज के लिए यह सबसे अच्छी आयुर्वेदिक दवा है। इस औषधि के सेवन से पुरुष की कमजोरी दूर होती है, संभोग का समय बढ़ता है और वीर्य गाढ़ा हो जाता है। इन सब के कारण शीघ्रपतन की समस्या से निजात मिलती है।

शीघ्रपतन का इलाज करने के लिए अश्वगंधा के फायदे

Shighrapatan के इलाज के लिए अश्वगंधा सबसे अच्छी आयुर्वेदिक दवा है। इसके सेवन से शारीरिक कमजोरी दूर होती है, सभी यौन समस्याएं भी दूर होती हैं और शरीर में ताकत आती है। अश्वगंधा का उपयोग यौन समस्याओं के इलाज के लिए एक जड़ी बूटी के रूप में किया जाता है। अश्वगंधा पाउडर और अश्वगंधा कैप्सूल बाजार में आसानी से मिल जाते हैं, लेकिन इसका इस्तेमाल करने से पहले एक बार डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

शीघ्रपतन के लिए ईसबगोल के फायदे

शीघ्रपतन के इलाज में ईसबगोल का सेवन फायदेमंद होता है। 5 ग्राम ईसबगोल में खसखस और मिश्री बराबर मात्रा में मिलाकर पीसकर समान चूर्ण बना लें। अब इस चूर्ण को रोजाना सुबह-शाम दूध के साथ सेवन करें।

शीतलचीनी है फायदेमंद

शीतलचीनी के पाउडर के इस्तेमाल से शीघ्रपतन को भी आसानी से कम किया जा सकता है। शीघ्रपतन से छुटकारा पाने के लिए आधा चम्मच शीतलचीनी का चूर्ण सुबह शाम पानी के साथ एक सप्ताह तक सेवन करें।

किशमिश है फायदेमंद शीघ्र स्खलन की आयुर्वेदिक दवा के रूप में

40 ग्राम किशमिश को पानी से अच्छी तरह धोकर 250 ग्राम दूध में उबाल लें। अब इस दूध को ठंडा करके पिएं और किशमिश को खाएं। कुछ दिनों तक इस नुस्खे को आजमाते रहें। शुरुआती तीन दिनों में इसका तीन बार सेवन करने से शीघ्रपतन की समस्या दूर हो जाएगी। अगर आपको किशमिश के सेवन से किसी भी तरह की समस्या है तो किशमिश का सेवन बंद कर दें।

शीघ्रपतन के इलाज के लिए जायफल पाउडर के फायदे

यदि आप शीघ्रपतन के इलाज के लिए किसी देशी दवा की तलाश कर रहे हैं तो जायफल के पाउडर का उपयोग फायदेमंद होता है। दूध में इलायची पाउडर, भीगे हुए बादाम का पेस्ट, सोंठ पाउडर और केसर को जायफल पाउडर के साथ उबाल लें। अब रोजाना सोने से पहले इस तरह से तैयार एक गिलास दूध लें।

3. शीघ्र स्खलन का इलाज योग द्वारा

शीघ्र स्खलन का इलाज योग द्वारा

शीघ्रपतन एक सामान्य पुरुष यौन समस्या है। वर्तमान में कई तरह के घरेलू उपचार उपलब्ध हैं, लेकिन फिर भी लोग शीघ्रपतन को दूर करने के लिए योग का सहारा लेते हैं। योग वह है जो सभी समस्याओं से छुटकारा पाने में मदद करता है।

शीघ्रपतन के इलाज के लिए हमने कुछ बेहतरीन योग आसनों को नीचे सूचीबद्ध किया है, जो न केवल शीघ्रपतन के इलाज में फायदेमंद हैं बल्कि अन्य यौन समस्याओं के लिए भी फायदेमंद हैं।

चलिए जानते है shighrapatan ka ilaj yog dwara

  1. गोमुखासन

  2. भुजंगासन

  3. धनुरासन:

  4. अनुलोम-विलोम प्राणायाम

  5. पश्चिमोत्तानासन

  6. कंधारासन:

4. शीघ्र स्खलन के आयुर्वेदिक दवा

शीघ्र स्खलन के आयुर्वेदिक दवा

आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों का उपयोग भारत में प्राचीन काल से पारंपरिक रूप से किया जा रहा है। और आज भी भारत की पारंपरिक चिकित्सा प्रणाली हर चीज के इलाज के लिए आयुर्वेदिक दवाओं पर निर्भर करती है चाहे वह मधुमेह हो या शीघ्र स्खलन की समस्या।

हमने नीचे कुछ शीघ्र स्खलन के आयुर्वेदिक दवा baidyanath बताई है, उन्हें देखना न भूलें।

कुछ शीघ्र स्खलन की आयुर्वेदिक दवा का नाम जैसे –

  1. कौंच बीज

  2. कामिनी विद्रवन रस baidyanath

  3. यौवनामृत वटी कैप्सूल पतंजलि

इन सभी दवाओं को कैप्सूल के रूप में दिन में दो बार गुनगुने पानी के साथ लेने पर शीघ्रपतन का इलाज आसानी से किया जा सकता है।

निष्कर्ष

देखिए, शीघ्रपतन कोई बीमारी नहीं है, लेकिन अगर यह समस्या आपको लंबे समय तक शिकार बनाए रखती है, तो इसका आपके जीवन पर बहुत नकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

शीघ्रपतन की वजह से एक तरफ जहां आपकी सेक्स लाइफ प्रभावित होती है वहीं दूसरी तरफ इससे आपके पार्टनर के साथ संबंध खराब हो जाते हैं। अधिकांश युवा शीघ्रपतन के कारण मानसिक तनाव का शिकार हो जाते हैं और यह उनके आत्मविश्वास को भी पूरी तरह से नष्ट कर देता है। शीघ्रपतन के इलाज के लिए ज्यादातर लोग शीघ्रपतन की दवा या देशी दवा का इस्तेमाल करते हैं, लेकिन ये सभी चीजें स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकती हैं और इनके इस्तेमाल से शीघ्रपतन का स्थायी इलाज नहीं हो पाता है।

यदि आप शीघ्रपतन का इलाज ढूंढ रहे हैं, तो शीघ्रपतन के इलाज के लिए ऊपर दिए गए घरेलू, देशी और आयुर्वेदिक उपचारों का पालन करें।

इस पोस्ट में आपने शीघ्रपतन के इलाज के लिए घरेलू उपचार और आयुर्वेदिक दवा के बारे में जाना। शीघ्रपतन कोई बड़ी बीमारी नहीं है, लेकिन अगर समय रहते इसका इलाज न किया जाए तो यह आपके जीवन को पूरी तरह से प्रभावित कर सकता है। ऐसे में Shighrapatan Ka Ilaj  के इन घरेलू उपायों को अपनाकर आप इस बीमारी पर पूरी तरह से काबू पा सकते हैं। आपको हमारी यह पोस्ट कैसी लगी कमेंट के माध्यम से हमें जरूर बताएं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *