अनियमित मासिक धर्म के कारण, लक्षण और उपचार – Monthly Irregular Periods Treatment in Hindi

Irregular Periods Problems in Hindi

Irregular periods treatment in hindi :- पीरियड्स यानी मासिक धर्म एक प्राकृतिक क्रिया है। जो महिलाओं में देखने को मिलती है। आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में यह एक आम समस्या हो गई है। जी हां, एक समय ऐसा भी था जब महिलाएं इस समस्या से परेशान रहती थीं। लेकिन आज वह समय है जब महिलाएं इसके प्रति जागरूक हो गई हैं।

मासिक धर्म आमतौर पर उसी समय के आसपास शुरू होता है जब एक लड़की के शरीर में परिवर्तन हो रहे होते हैं, जैसे कि स्तनों का विकास या जघन बाल इत्यादि।

इसी समय उनको बहुत अधिक कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है।

इन सभी कठिनाइयों से बचने के लिए आज हम इस लेख में बात करेंगे कि अनियमित मासिक धर्म क्या है? अनियमित मासिक धर्म के लक्षण और कारण, साथ ही इसके रोकने के उपाय भी बताएँगे, तो अंत तक हमारे लेख को पूरा पढ़ें।

तो चलिए सबसे पहले जानते है अनियमित मासिक धर्म क्या होता है (aniyamit masik dharm kya hai) और इससे कैसे बचें।

अनियमित मासिक धर्म क्या है? – Irregular Periods in Hindi

अनियमित पीरियड्स (irregular periods problem) की समस्या एक बहुत ही परेशानी वाली समस्या है। यदि मासिक धर्म समय पर नहीं होता है तो इसे अनियमित माहवारी कहा जाता है।

कई बार तो यह बहुत ही जल्दी आ जाती है या आने में काफी समय लगा देती है। ऐसे में महिलाओं में मासिक धर्म का समय खराब हो जाता है और  उन्हें काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

यदि महिलाओं के मासिक धर्म की अवधि सही हो तो उनका मासिक धर्म भी सही समय पर आता है। इसके विपरीत यदि नियमित चक्र 21 से 35 दिनों के भीतर न आए तो यह एक बड़ी समस्या बन सकती है।

अगर यह समस्या पहली बार हो तो कोई टेंशन नहीं है, लेकिन अगर अनियमित पीरियड्स बार-बार हो जाए तो यह चिंताजनक बात है।

यह समस्या देश की ज्यादातर महिलाओं में पाई जाती है। कई बार गलत खान-पान और बाजार में ‘जंक फूड’ के ज्यादा सेवन से भी यह समस्या हो सकती है।

और पढ़ें :- प्रेगनेंसी के बारे में सप्ताह दर सप्ताह – pregnancy week by week in hindi

अनियमित मासिक धर्म के लक्षण – Symptoms of Iirregular Periods Treatment in Hindi

बहुत सी महिलाएं aniyamit masik dharm ke lakshan जानना चाहती हैं, इसीलिए हम इस लेख में  irregular periods ke lakshan लाए हैं, इन्हे पढ़ना न भूलें।

अनियमित मासिक धर्म के कुछ लक्षण इस प्रकार हैं –

  • मासिक धर्म में कम  रक्तस्राव

  • मासिक धर्म का न आना

  • रुक-रुक कर मासिक धर्म

  • वक्षस्थलों में दर्द होना

  • मासिक धर्म की कमी

  • सही तारीख पर मासिक धर्म न आना

  • जल्दी थकान महसूस होना

  • चक्कर आना

  • नाभि के नीचे दर्द

  • कष्टदायक माहवारी होना

  • भूख न लगना, या भूख कम लगना

  • चिड़चिड़े रहना

  • खुलकर मासिक धर्म न आना

और पढ़ें :- प्रेगनेंसी के बारे में महीने दर महीने – Pragnancy tips Month by month in hindi

अनियमित मासिक धर्म होने के कारण – Causes of Irregular Periods treatment in Hindi

आज के आधुनिक जीवन के इस दौर में यह एक आम समस्या हो गई है। महिलाओं या युवा लड़कियों में अनियमित मासिक धर्म की समस्या उनकी गलत दिनचर्या और गलत खान-पान के कारण होती है।

देर रात तक जागना या देर से सोना या फिर बाजार में, जंक फूड का अधिक मात्रा में सेवन करना भी इसका कारण हो सकता है। अनियमित मासिक धर्म चक्र के कारण महिलाओं के शरीर में अन्य संक्रमण या अन्य रोग होने का खतरा भी बढ़ सकता है। इसीलिए ऐसी गलती न करें जो irregular periods hone ke karan बनती है।

अनियमित पीरियड्स होने के कारण – Ladies Periods Problem ke karan in Hindi

  • मासिक धर्म की ज्यादातर समस्या लड़कियों या आलसी महिलाओं को होती है। तो इस बात का थोड़ा ख्याल रखें।

  • अगर आपका शरीर बहुत आलसी है और आप घर का कोई काम नहीं करती हैं, आप दिन भर आराम करती रहती हैं, तो आज से ही ये सब छोड़ दें।

  • घर के छोटे-छोटे काम अपनी क्षमता के अनुसार ही करें। ताकि आपका मासिक धर्म चक्र सुचारू रूप से चलता रहे।

  • यही कारण है कि शहर की तुलना में गांव की लड़कियों में मासिक धर्म रुकने की समस्या बहुत कम या नगण्य ही पाई जाती है।

  • मासिक धर्म होने का एक मुख्य कारण यह भी होता है कि जिनके शरीर में खून की कमी हो जाती है या फिर यौन दोष हो जाता है तो मासिक धर्म का समय खराब हो जाता है।

  • कई बार कुछ महिलाएं और लड़कियां मासिक धर्म के दौरान ठंडी चीजों का ज्यादा सेवन करती हैं तो इससे अनियमित मासिक धर्म भी हो जाता है।

  • ज्यादा देर तक ठंड में रहने से या फिर सर्दी के कारण महिलाओं का मासिक धर्म या तो अनियमित हो जाता है या बंद हो जाता है।

अनियमित मासिक धर्म को  कैसे रोकें – How to Solve Irregular Periods Problem Naturally in Hindi

How to Solve Irregular Periods Problem Naturally in Hindi

अनियमित माहवारी के लिए घरेलू उपचार: आप घरेलू उपचार से भी अनियमित मासिक धर्म को ठीक कर सकते हैं। इसका सबसे बड़ा फायदा यह है कि घरेलू नुस्खों से किए गए इलाज से कोई साइड इफेक्ट नहीं होता है। और ये बिलकुल नेचुरल होतें है।

Irregular मासिक धर्म के लिए कुछ घरेलू उपाय आपके लिए बताए जा रहे हैं। अगर आप इन्हें आजमाते हैं तो निश्चित रूप से आपकी मासिक धर्म की समस्या ठीक हो सकती है।

तो चलिए जानते है पीरियड्स की समस्या को कैसे हल करें – how to solve periods problem in hindi

काली मिर्च और शहद से करें मासिक धर्म का इलाज – Treat Menstruation with Black Pepper and Honey

3 ग्राम काली मिर्च का चूर्ण शहद के साथ चाटने से कुछ ही समय में रुके हुए मासिक धर्म शुरू हो जाते है। इसके साथ ही एक छोटा चम्मच Couch grass के रस से भी यह समस्या दूर हो जाती है।

जिन महिलाओं को मासिक धर्म खुलकर नहीं आता (Period Natural Process) उन्हें यह घरेलू उपाय आजमाना चाहिए। 10 ग्राम तिल और 2 ग्राम काली मिर्च और दो छोटी पीपल लें।

अब इन तीनों में थोड़ी सी चीनी मिलाकर उबाल लें और अच्छी तरह से काढ़ा बना लें।

इस काढ़े को ठंडा होने के बाद छान कर पी लें। ऐसा हफ्ते में 2 से 3 बार करें। इस काढ़े को पीने के बाद आपके पीरियड्स खुलकर आने लगते हैं।

अनियमित पीरियड्स से बचने के लिए भी इसे भी आजमाएं  – Also try this to avoid Irregular Periods

ग्वारपाठे का रस 2 सप्ताह तक प्रतिदिन खाली पेट लेने से अनियमित मासिक धर्म ठीक हो जाता है। रुके हुए मासिक धर्म को शुरू करने के लिए रोजाना कच्चा पपीता खाएं, इससे मासिक धर्म खुलकर आने लगता है।

विटामिन-डी की कमी ज्यादातर महिलाओं में पाई जाती है, इसे अपनी डाइट में जरूर शामिल करें।

सोंठ और देसी गुड़ से करें पीरियड्स का इलाज – Periods Problem Solution in Hindi

अगर महिलाओं में अनियमित मासिक धर्म की समस्या है तो इस घरेलू उपाय से मासिक धर्म को नियमित किया जा सकता है। यहां आपको जो होम मेड रेसिपी बताई जा रही है, उसके लिए आपको इन सामग्रियों की जरूरत पड़ेगी।

  • सोंठ

  • बायबिडंग

  • जौ

  • देसी गुढ़

सबसे पहले आप 50 ग्राम सोंठ, लगभग 30 ग्राम गुड़ और 5 ग्राम बायबिडंग और 5 ग्राम जौ लें। इन सभी को एक साथ मिलाकर और कूटकर  पाउडर बना  लें। और इसमें एक गिलास पानी डालकर अच्छी तरह उबाल लें।

और जब पानी आधा रह जाए तो इस काढ़े को ठंडा होने के बाद सेवन करें। इस देसी नुस्खे से आपका रुका हुआ मासिक धर्म खुलकर आने लगेगा।

बरगद, मेथी और काली मिर्च से माहवारी लाने के उपाय – Remedies to bring Menstruation with Banyan

बरगद के पेड़ की लंबी-लंबी जटाएं और मैथी व कलौंजी को 3 ग्राम लेकर इनका एक पाउडर बना ले। 

अब इसमें दो गिलास पानी मिलाकर उबाल लें। जब पानी लगभग आधा या उससे कम रह जाए तो इस पानी को छान लें और आवश्यकता के अनुसार थोड़ी चीनी मिला लें।

और इस पानी को ठंडा होने के बाद पी लें। इससे घरेलु नुस्खे से आपका रुका हुआ पीरियड खुलकर आने लगता है। और मासिक धर्म से जुड़ी समस्या भी ठीक हो जाती है।

और पढ़ें :- बरगद के पेड़ के 8 अद्भुत फायदे और नुकसान – Banyan Tree in Hindi and Side Effects

शादी के बाद पहला पीरियड – Periods Problem After Marriage in Hindi

  • जब नई शादी होती है, तो पति-पत्नी अपनी यौन इच्छा को शांत करने के लिए कई बार शारीरिक संबंध बनाते हैं। इस वजह से भी उसका मासिक धर्म अनियमित हो सकता है।

  • ससुराल जाने के बाद वित्तीय जिम्मेदारी के साथ-साथ लड़की को कई पारिवारिक और मानसिक जिम्मेदारियों का बोझ उठाना पड़ता है। इसीलिए उन्हें ladies monthly problem in hindi हो जाती है।

  • और यह भी एक कारण हो सकता है कि यदि आपका शरीर बदले हुए वातावरण के अनुसार अनुकूलन न हो तो आपको ऐसी समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

अनियमित मासिक धर्म के रुकने को कैसे पहचानें? – How to Recognize the Stop of Irregular Periods

  • आप इस तरह से अनियमित मासिक धर्म के रुकने की पहचान कर सकती हैं। कभी-कभी मासिक धर्म रुक जाने के कारण आपके गर्भाशय के हिस्से में दर्द होने लगता है। 

  • जिन लोगों को अनियमित पीरियड्स की समस्या होती है, उन्हें बहुत कम या बिल्कुल भी भूख नहीं लगती है। पेट में कब्ज या दस्त की शिकायत रहती है। ऐसे में ये  सभी समस्याएं ठीक हो जाती है।

  • स्तनों में दर्द, उल्टी, जी मिचलाना, सांस लेने में तकलीफ या घबराहट, दिल की धड़कन, ऐसे लक्षण अनियमित पीरियड्स या मासिक धर्म के रुक जाने के लक्षण हैं।

  • जब मासिक धर्म अनियमित हो जाता है तो हाथ-पैर टूटने लगते हैं। खासकर पीठ में दर्द बना रहता है। गले में खराश और आपका पूरा शरीर बेहद थका हुआ महसूस करने लगता है। ऐसे में ये  सभी समस्याएं ठीक हो जाती है।

और पढ़ें :- ये बेहतरीन टिप्स ब्रेस्ट को टाइट करने के लिए है कामयाब – Breast Tight Karne Ke Tarike In Hindi

अनियमित मासिक धर्म होने पर ध्यान रखें ये बातें – Keep these things in Mind if you have Irregular Menstruation

मासिक धर्म महिलाओं में होने वाली एक सामान्य और स्वाभाविक प्रक्रिया है। अगर मासिक धर्म में किसी भी प्रकार की गड़बड़ी या अनियमितता आ जाय तो महिलाओं में दूसरी बीमारियाँ पैदा होने की संभावना  बढ़ जाती है।

इसलिए इस समस्या को  कभी भी हल्के में न लें। और इसका तुरंत इलाज करें। पीरियड्स के अनियमित होने का एक कारण यह भी है, रीर के अंदरूनी हिस्से में किसी भी तरह की बीमारी हो, वह भी महिलाओं में मासिक धर्म में अनियमितता का कारण हो सकती है।

यदि महिलाओं में मासिक धर्म नियमित रूप से नहीं चलता है, तो यह उनके मातृ जीवन, गर्भावस्था को प्रभावित कर सकता है। और वे मां बनने के सुख से वंचित हो सकती हैं।

और पढ़ें :- यौन शिक्षा और यौन स्वास्थ्यगर्भावस्था से जुडी हुई है ये महत्वपूर्ण बातें – Information about Pregnancy in Hindi

निष्कर्ष – Conclusion

इस पोस्ट को अपने अपने महिला मित्र के साथ जरूर साझा करें। क्योंकि यह समस्या लड़कियों और महिलाओं में पाई जाती है। और ये बात वह खुलकर साझा नहीं कर सकती, इसलिए यह पोस्ट उनके लिए असान और असरदार साबित हो, हम बस यही उम्मीद करते है।

आशा करता हूँ की अब आप periods problem in girl in hindi language जान गए होंगे। अगरआप इसके कारणों और लक्षणों को जानना चाहते है तो एक बार हमारे लेख पर नजर डालें।

अगर आपको monthly periods problems and solutions in hindi के लेख से संबंधित कोई सवाल या सुझाव है तो हमे कमेंट के जरिये जरूर बताएं।

और पढ़ें :- महिला रोग की श्रेणी के बारे में

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *