Headache Meaning in Hindi – (परिभाषा,कारण,लक्षण घरेलू उपचार )

Headache Meaning in Hindi

Headache Meaning in Hindi

  • Headache –  सिरदर्द
  • Headache means in Hindi –  सिर की पीड़ा
  • Headache Meaning in Hindi – सिर का दर्द

Defination And headache Meaning in hindi - परिभाषा और सिरदर्द मीनिंग इन हिंदी

सिरदर्द सबसे आम रोग में से एक है, अधिकतर लोग इस दर्द को अपने जीवन में  किसी न किसी मोड़ पर महसूस करते हैं। वे आयु और लिंग की चिंता किए बिना किसी को भी effect  कर सकते हैं।विश्व स्वास्थ्य संगठन  (World Health Organisation)  की रिपोर्ट के अनुसार हर वयस्क को  किसी न किसी तरह सिरदर्द का अनुभव होगा |

सिरदर्द भावनात्मक दुख या तनाव को बढ़ाने का संकेत हो सकता है या यह एक चिकित्सा विकार के परिणामस्वरूप हो सकता है जैसे कि माइग्रेन , हाई ब्लड प्रेशर, चिंता | यह अन्य बीमारियों को जन्म दे सकता है। जैसे की क्रोनिक माइग्रेन |

सिरदर्द होने के कारण कारण : – 

सिर के दोनों तरफ, सिर्फ एक स्थान पर या सिर के किसी भी हिस्से में सिरदर्द का अनुभव हो सकता है।

सिरदर्द को Difine करने के भिन्न-भिन्न तरीके हैं।

अंतर्राष्ट्रीय सिरदर्द सोसायटी (The International Headache Society)  सिरदर्द को प्राथमिक के रूप में वर्गीकृत करती है जब वे किसी अन्य स्थिति, या द्वितीयक के कारण नहीं होते हैं, जब कोई अन्य अंतर्निहित कारण होता है।

Definition And Primary headache Meaning in hindi (परिभाषा और प्राथमिक सिरदर्द मीनिंग इन हिंदी)

प्राथमिक सिरदर्द :-

स्टैंड-अलोन बीमारियां को प्राथमिक सिरदर्द कहते हैं जिनकी वजह से सिरदर्द की समस्या होती है |

इसमें ब्लड वेसल्स , मांसपेशियों और सिर और गर्दन की नसें शामिल हैं। वे मस्तिष्क में रासायनिक गतिविधि में परिवर्तन के परिणामस्वरूप भी हो सकते हैं।

प्राथमिक सिरदर्द में सामान्य माइग्रेन, क्लस्टर सिरदर्द और तनाव सिरदर्द शामिल हैं।

Definition And Secondary headache Means in hindi – (परिभाषा और माध्यमिक सिरदर्द का मतलब हिंदी में )

माध्यमिक सिरदर्द :-

जब कोई अन्य बीमारी मस्तिष्क में दर्द के प्रति संवेदनशील तंत्रिकाओं को सक्रिय करती है तो द्वितीयक सिरदर्द उत्पन्न होता है।, अन्य लक्षण सिरदर्द के लक्षण के रूप में संबंधित हो सकते हैं।माध्यमिक सिरदर्द को विभिन्न कारकों की एक विस्तृत श्रृंखला पैदा कर सकती है।

  • ब्रेन ट्यूमर

  • ब्लड क्लॉट्स

  • ब्लीडिंग इन ओर अराउंड दा ब्रेन

सिरदर्द होने के कारण लक्षण : – 

सिरदर्द एक बिंदु से सिर के चारों ओर फेल सकता हैं  धीरे-धीरे या अचानक सिरदर्द हो सकते हैं। वे एक घंटे से भी कम समय से लेकर कई दिनों तक रह सकते हैं।

सिरदर्द के लक्षण कुछ हद तक इस बात पर निर्भर करते हैं कि यह किस प्रकार का सिरदर्द है।

तनाव सिरदर्द –  सामान्य से हल्का , हलके से मध्यम हो सकता जो एक बैंड की तरह सिर के चारों ओर महसूस कर सकता है। वे सिर के दोनों किनारों को प्रभावित करते हैं।

माइग्रेन का सिरदर्द: सिर के एक हिस्से में अक्सर तेज दर्द होता है, ज्यादातर सामने की तरफ या सिर के साइड में। और व्यक्ति ख़ास तोर पर  प्रकाश या शोर के प्रति संवेदनशील महसूस कर सकता है।

क्लस्टर सिरदर्द: ये तीव्र दर्द पैदा कर सकते हैं, अक्सर एक आंख के आसपास। वे आमतौर पर वर्ष के एक विशेष समय के आसपास होते हैं, संभवतः 1 से 2 महीने की अवधि में।

घरेलू उपचार : – 

सिर का दर्द कम करने के लिए और दर्द होने पर आराम करने के लिए कई स्टेप (कदम) उठाए जा सकते हैं:

अपने सिर पर  या गर्दन पर हीट पैक (Hit Pack) या आइस पैक (Ice Pack)  लगाएं, लेकिन अत्यधिक गरम या ठंडा करने से बचें।

तनावग्रस्त लोगों से बचें, जहां संभव हो, और अपरिहार्य तनाव के लिए स्वस्थ मैथुन रणनीतियों का विकास करें।

रोज खाएं अपने ब्लड शुगर को मेन्टेन करने के लिए ( Eat Regularly to Maintain  Blood Sugar )

एक गर्म पानी से नहाने से यह दर्द की कमी में मदद कर सकता है | हालांकि  एक दुर्लभ स्थिति में गर्म पानी के संपर्क में सिरदर्द हो सकता है। नियमित रूप से व्यायाम करना चाहिए और पर्याप्त आराम और नियमित नींद लेनी चाहिए जोकि तनाव वे कमी कर सकता है |

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *