ये बेहतरीन टिप्स ब्रेस्ट को टाइट करने के लिए है कामयाब – Breast Tight Karne Ke Tarike In Hindi

Breast Tight Kaise Kare in Hindi

breast tight kaise kare in hindi:- स्तन विभिन्न मांसपेशियों और कोशिकाओं से बने होते है जो उम्र के साथ सिकुड़ने लगते हैं। स्तनों के सिकुड़ने के कारण वे ढीले हो जाते हैं। यह एक प्राकृतिक प्रक्रिया है जो पचास वर्षों के बाद महिलाओं में शुरू होती है।

एक महिला के स्तन आकर्षण और स्त्रियत्व के प्रतीक हैं, यदपि, प्राय: उम्र बढ़ने की प्राकृतिक प्रक्रिया ढीले स्तनों का कारण होती है। लेकिन कई ऐसे कारण भी हैं जिनकी वजह से उम्र से पहले युवतियों के स्तन भी ढीले हो जाते है।

स्तन शरीर का एक अनिवार्य हिस्सा है जो महिलाओं को पुरुषों से अलग करता है। एक महिला का सही आकार उसकी छाती और आकार से निर्धारित किया जाता है।

अगर उसके स्तन आकर्षक व सुडौल न हो तो उसकी खूबसूरती का कोई मायने नहीं रखता है।

बहुत से ऐसे कारण है जिनकी वजह से महिलाओं के स्तन ढ़ीले हो जाते हैं।लेकिन ऐसे कई तरीके हैं जिनके जरिए महिलाओं के ढीले स्तनों (loose breast) को बचाया जा सकता है। 

जी हाँ,  उचित आकार पाने के लिए और ढीले स्तनों से छुटकारा पाने के लिए, हम इस लेख में बताएंगे breast tight karne ke tarike in hindi, तो आप हमारे लेख को पूरी तरह से पढ़ें।

तो आइये जानते है ब्रैस्ट टाइट टिप्स वो भी हिंदी में  (breast tightening tips in hindi)

ये बेहतरीन टिप्स जो ब्रेस्ट की शेप बनाए रखने में कर सकते हैं मदद – Breast Tight Kaise Kare in Hindi

वैसे, कई कारण हैं, जिनकी मदद से आप घर बैठे अपने ढीले-ढाले स्तनों को टाइट कर सकती है। लेकिन हमने नीचे कुछ चुनिंदा कारणों का उल्लेख किया है जो आपके स्तनों को टाइट करने में सबसे ज्यादा रोल अदा करते है।

तो आइये जानते है loose breast tight kaise kare in hindi

  1. वजन का ध्यान रखें

  2. बहुत सारा पानी पियें

  3. पोषण और व्यायाम

  4. स्तनों के लिए पुश-अप्स

वजन का ध्यान रखें (maintain a proper weight)

हर किसी को उचित वजन रखना चाहिये, वजन में कमी या वृद्धि स्तनों पर नकारात्मक प्रभाव डालता है। स्तनों की त्वचा वजन बढ़ने के साथ फैलती है और अचानक से वजन में कमी ढ़ीलेपन को बढ़ाती है।

बहुत सारा पानी पियें (consume plenty of water)

ऐसा माना जाता है कि त्वचा कोशिकाओं से बनी होती है जो पानी से भरी होती हैं। पानी की कमी से स्तनों की त्वचा सुस्त और सिकुड़ जाती है। पानी की कमी से त्वचा पर सूखापन, परतदार और झुर्रियां आती हैं। यह उम्र से पहले स्तनों को ढीला और फैला देता है।

पोषण और व्यायाम (Nutrition and excrcise)

अतिरिक्त वजन को दूर करने के लिए स्वस्थ भोजन और नियमित व्यायाम बहुत प्रभावी हैं। स्तनों की वृद्धि और सहायता के लिए प्रोटीन जैसे पोषण तत्व आवश्यक है।

आहार में प्रोटीन की कमी से स्तन की मांसपेशियां ढीली और सुस्त हो जाती हैं, जिससे स्तनों के ढीले और झुके होने की संभावना बढ़ जाती है।

  दैनिक संतुलित आहार में शामिल प्रोटीन, खनिज, कार्बोहाइड्रेट और फैट्स जैसे पोषक तत्व,  स्तन के आसपास की त्वचा को स्वस्थ रखते हैं।

यह सलाह दी जाती है कि गाजर, गोभी, टमाटर, फूलगोभी, आदि को दैनिक आहार में शामिल किया जाना चाहिए।

स्तनों के लिए पुश-अप्स (Push-ups for breasts)

स्तन वसा से बने होते हैं, मांसपेशियों से नहीं, इसलिए इसे कसने के लिए कुछ भी नहीं है। छाती के व्यायाम स्तन के चारों ओर लिगामेंट को मजबूत करने में मदद करते हैं, जो स्तनों को भरने में मदद करते हैं।

छाती के लिए सबसे आसान व्यायाम पुश-अप्स हैं जो स्तनों के नीचे की मांसपेशियों को मजबूत करते हैं। यह छाती के आसपास जमा वसा को कम करने में मदद करके स्तनों को सही आकार देते है।

और पढ़ें :- ब्रेस्ट का आकर बढ़ाने और उनको सुडौल बनाने के स्वाभाविक सफल उपचार

ढीले स्तनों को टाइट करने के लिए बेहतरीन टिप्स (breast tight karne ke tips in hindi)

breast tight karne ke tips in hindi
breast tight karne ke tips in hindi

स्वस्थ आहार (healthy diet)

आपके शरीर को सभी प्रकार के विटामिन और पोषकों तत्व की आवश्यकता होती है

आपका शरीर हमेशा संतुलित आहार चाहता है जिससे की नए और स्वस्थ कोशिकाओं का विकास हो सकें।

आपके आहार में समुचित विटामिन और मिनरल्स को शामिल करने से, आपके स्तन की कोशिकाएं मजबूत होंगी। जिससे आप अपने स्तन के फैलाव से दूर कर  सकेंगी।

आपको अपने शरीर में ओमेगा 3 को शामिल करना चाहिए ताकि आप आसानी से स्तन कैंसर से बच सकें। ताजी सब्जियां जैसे गाजर, पालक, बीट, आदि को भी अपनी डाइट में शामिल करें।

धूम्रपान छोड़ें (Quit smoking)

कुछ महिलाओं को नियमित रूप से सिगरेट पीने की आदत होती है। यह कभी सोचा भी नहीं गया था कि कभी नशे की आदतों से पुरूषों को दूर रखने वाली महिलायें आज के समय में नशे की लत की शिकार हो रही है।

 सिगरेट पिने से महिलाओं के शरीर में विभिन्न समस्याएं पैदा हो रही है इनमें से स्तनों का ढ़ीलापन (loose breast) एक है। आपको तुरंत धूम्रपान छोड़ देना चाहिए।

पुरानी ब्रा को बदलें (Replace old bra)

कुछ महिलाएं हैं जो लगातार अपनी पुरानी या ढीली ब्रा पहनती हैं। वह कहती है कि यह आरामदायक है। लेकिन, वे इस तथ्य से अनजान हैं कि इन ढीली ब्रा पहनने से स्तन फैल जाते है और उनमे ढीलापन आ जाता है।

 ब्रा को हर छह महीने में बदलना अच्छा होगा ताकि यह आपके स्तनों को बनाए रखे और उन्हें फैलने से भी बचाए। यदि आपके स्तन भारी हैं, तो एक उत्थान ब्रा का चयन करना बेहतर है।

जैतून के तेल का उपयोग करे (use olive oil for loose breast ko tight kaise kare in hindi)

जैसे आप शरीर के सभी अंगों पर मालिश करते हैं, उसी प्रकार स्तनों की मालिश भी आवश्यक है अगर आप आने वाले वर्षों में फैले हुये स्तन नहीं चाहती हैं तो स्तनों पर ओलिव आयल की मालिश करें।

क्योंकि जैतून का तेल antioxidant गुणों से भरपूर है जो आपके शरीर से मुक्त रैडिकल को हटा देता है । अगर आप जैतून के तेल का नियमित रूप से उपयोग करती हैं तो आपको बड़े  सुंदर, आकर्षक व सुडौल स्तन आसानी से मिल जायेंगे।

इसके लिये आपको अपने हाथों पर जैतून के तेल की कुछ बूंदें लेकर स्तन के चारों ओर निप्पल को छोड़कर लगायें। आपको अपनी हथेलियों से स्तन को नीचे से ऊपर की ओर रगड़ना चाहिए। आपको अपने स्तन गोलाकार गति में ऊपर उठाते हुये मालिश करना चाहिये जिससे कि ये ऊपर उठे और फैलने से भी रूके।

अंडे से उपचार (Egg white treatment)

कुछ लोगों को पता नहीं हो सकता है कि अंडे का सफेद हिस्सा त्वचा के पोषण गुणों को बरकरार रखता है जो स्तन कोशिकाओं की मरम्मत करता है। अगर आपके स्तन के आसपास की त्वचा ढीली हो रही है, तो इस समय इसका लाभ लेना चाहिए।

आप एक अंडा लेकर जर्दी (egg yolk) को निकालें और इसके सफेद भाग (egg whites) को फेंट लें। इसको फेंटने पर झाग मिलेगा। एक ब्रश की सहायता से अपने स्तनों के ऊपर लगा लें।

20 मिनट तक इंतजार करें जबतक कि यह आपके स्तनों को कस नहीं लेता है। 20 मिनट के बाद पानी के साथ धुल दें।

स्तनों के लिये खीरा और अंडा (Cucumber and egg  for breast )

अंडे और खीरे को मिलाकर एक अद्भुत मास्क बना सकते हैं। जर्दी को बाहर निकालकर इस अच्छी प्रकार से फेंट लें जिससे कि यह हल्के पीले रंग का हो जाय।

2 चम्मच मसले हुये खीरे को इसमें मिला दें। अब इसमें एक चम्मच क्रीम या मक्खन मिला दें जिससे एक अच्छा लेप तैयार हो जाएँ।

 इसे अपने स्तन के ऊपर लगायें और 30 मिनट के लिये छोड़ने के बाद ठंडे पानी से धो लें। इसके प्रयोग से आपके स्तन लम्बे समय तक ठोस और खूबसूरत रह सकतें है।

एक लेप तैयार करें (Prepare a mask)

यह मास्क vitamin – E के तेल, दही (yogurt) और अंडे (egg) के  साथ मिलाकर बनाया जाता है। इन सभी सामग्रियों को मिलाएं और इसे स्तन पर लगाएं।

10 मिनट तक लगाये रखने के बाद ठन्डे पानी से धो लें।

इसके आलावा बर्फ से मालिश भी स्तनों को ठोस बनाने में मदद करेगा।

इसके लिए बर्फ के टुकड़े को लेकर एक ज़िप से बंद होने वाले बैग में भरकर दिन में कई बार स्तनों की मालिश से ऐसा मुमकिन है।

यह Ice massage त्वचा और स्तन को रंगत देने में सहायता करेगा।

तेल की मालिश करें (Massage oil)

वनस्पति तेल जैसे कि नारियल तेल, बादाम का तेल, जैतून का तेल और अंगूर के बीज के तेल से स्तन के चारों ओर मालिश करने से त्वचा को पोषण मिलेगा और वह ठोस हो जाएगी।

वनस्पति तेलों के अलावा, आवश्यक तेल जैसे कि गाजर का तेल, नींबू घास का तेल और सौंफ़ बीज का तेल त्वचा में लोच और कोमलता लाने में मदद करेगा। दिन में कई बार इन तेलों से मालिश करने से आपको फायदा होगा।

ढीले स्तन होने के कारण (loose breast reason in hindi)

स्तन ढीले होने के कई कारण होते हैं। उम्र के अलावा, अनुचित कपड़े, जीवन शैली में बदलाव, हार्मोन में बदलाव और अचानक वजन कम होना या बढ़ना भी प्रमुख कारण हैं।

स्तनों को फैलाने में गर्भावस्था भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। गर्भावस्था के दौरान, लिगामेंट के फैलने के कारण स्तनों का आकार बढ़ जाता है। कुछ रोग जैसे स्तन कैंसर या सांस की समस्या जैसे तपेदिक ढीले स्तनों को बढ़ावा देते हैं।।

इनके अलावा, धूम्रपान, नशीले पेय और कार्बोनेट आधारित पेय भी स्तनों को ढ़ीला कर सकते हैं।  एक महिला के स्तन स्त्रीत्व और आकर्षण का प्रतीक हैं। हालांकि, अक्सर जीवन की प्राकृतिक वृद्धि ढीले स्तनों को प्रोत्साहित करता है। यह अवांछित परिणाम उम्र बढ़ने, क्रोध, गर्भावस्था और नाजायज अभ्यास के कारण होता है।

इसके अलावा हमने कुछ और महत्वपूर्ण कारको का उल्लेख किया है जो ढीले-ढाले स्तनों का कारण बनता है तो आइये जानते है ढीले-ढाले ब्रैस्ट के कारण (reason of loose breast in hindi)

सही फिटिंग की ब्रा न पहनना (Not wearing the right fitting bra)

ढीले स्तनों का सबसे महत्वपूर्ण कारण सही ब्रा का चुनाव नहीं करना है। यह बहुत महत्वपूर्ण है कि सही आकार की ब्रा को चुना जाए, यह स्तन को सही रूप में रखता है और सम्पूर्ण आकर्षण को बढ़ाता है।

यदि आपको अपनी ब्रा का आकार नहीं पता है, तो एक पेशेवर द्वारा अपने आकार का सही तरीके से मूल्यांकन करें। यह सेवा कई ब्रांडेड दुकानों पर नि: शुल्क उपलब्ध है।

सुनिश्चित करें कि ब्रा पहनने के बाद आपके स्तन उछलें नहीं। जब ब्रा की पट्टियाँ ढीली हो जाती हैं तो स्तनों का उछलना आम है।  ऐसे में आपको अपनी ब्रा को बदलना चाहिए।

मालिश न करना  (Do not massage)

बहुत से लोग स्तनों पर मालिश नहीं करते है जो की गलत है।

स्तनों को सही आकार में रखने के लिए रोजाना मॉइस्चराइजर लगाएं। यह त्वचा को मुलायम रखेगा और आपके स्तनों की ठोस बनाने में भी मदद करेगा। अपने स्तनों की मालिश हल्के हाथों से ऊपर से नीचे और नीचे से ऊपर करें।

सही ढ़ंग (Correct posture)

बुरा ढ़ंग ब्रेस्ट को ढ़ीला होने में प्रोत्साहन कर सकते हैं। अपने स्तनों को सुदृढ़ और उठा हुआ बनाये रखने के लिये, आदतन सीधे खड़े हो और उठते या कार्य के समय झुके नहीं।

वजन में वृद्धि या गिरावट (Increase or fall in weight)

नियमित व्यायाम और संतुलित आहार से वजन को एक जैसा बनाये रखें। वजन का लगातार घटना और बढ़ना त्वचा को फैला देता है जिसके कारण स्तनों की लोचता फैल जाती है।

अन्चाहे अभ्यास (unwarranted workout) 

आवश्यकता से अधिक कोई भी चीज़ बुरी है इसलिये अन्चाहे अभ्यास में कमी करें। स्तनों को अधिक समय तक न हिलायें और सहायता देने वाले टाइट ब्रा या स्पोर्ट्स ब्रा को पहने।

अन्चाहे अभ्यास से स्तनों पर जोर पड़ता है और उनके ढीला पड़ने की संभावना बढ़ जाती है।

नम रहें (Be Hydrated)

अपने शरीर को नम रखने के लिए रोजाना कम से कम 8 गिलास पानी पिएं। कम पानी वाली त्वचा अक्सर झुर्रियों वाली और ढीली होती है।

 ढीले स्तनों के कारण आप चिंतित और अल्प-आत्मविश्वासी हो सकती है, इसिलए अपने सरीर को हाइड्रेटेड रखें।

निष्कर्ष (Conclusion) – breast tightening home tips in hindi

ये सभी चुनिंदा उदाहरण आपके ढीले-ढाले स्तनों से छुटकारा दिलाने में मदद करेंगे। यदि आप भी बड़े, आकर्षक और सुंदर स्तन पाना चाहती हैं, तो हमारे द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करें।

कुछ ही दिनों में आपको फर्क नजर आ जायेगा।

अगर आपको,किसी भी उपाय में समस्या नजर आती है तो एक बार अपने नजदीकी चिकित्सक से सलहा अवश्य लें।

हमारा आर्टिकल पसंद आया तो हमे कमेंट के जरिये जरूर बताएं।

और पढ़ें :- यौन शिक्षा और यौन स्वास्थ्य

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *