डाबर शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल के फायदे, नुकसान और उपयोग

वक्त इतना बदल गया है कि लोगों के काम करने का तरीके में भी बदलाव आया है। पहले लोग पूरे दिन काम जरूर करते थे। लेकिन काम करने पर उनकी ताकत, क्षमता अधिक रहती थी। आज जिस दौर में लोग काम कर रहे हैं। उनके अंदर काम करने की क्षमता स्टैमिना लगातार कमजोर नजर आ रहा है। लोगों में काम करने का दबाव पहले से अधिक बढ़ गया है। जाहिर सी बात है लोग काम तो करना चाहते हैं लेकिन उसी पुराने स्टैमिना के साथ वह यह सोचते हैं ऐसा कैसे हो कि हम पुराने स्टेमिना के साथ उसी दौर से काम कर सकें। दूसरे लफ्जों में अगर स्टैमिना की बात तो अक्सर लोग थकान और स्ट्रेस की वजह से डेट पर भी कमजोर स्टैमिना की वजह से परफॉर्मेंस खराब कर देते हैं।‌ इसके लिए लोग तरह तरह की दवाइयों का इस्तेमाल करते हैं आज प्रकार के चूर्ण का इस्तेमाल करते हैं फिर भी उनके अंदर स्टेमिना ना के बराबर ही नजर आता है। ऐसे में डाबर शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल बेहद फायदेमंद साबित हो सकता है। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से डाबर शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल का उपयोग कैसे करें इसके फायदे और नुकसान समेत विस्तृत जानकारी देंगे।

क्या है डाबर शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल

दोस्तों कई लोग डाबर शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल का सेवन तो करते हैं लेकिन इस बात से अनजान रहते हैं कि आखिर शिलाजीत कैप्सूल क्या होता है तो चलिए आज हम आपको बताते हैं आखिर डाबर शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल क्या है। डाबर शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल एक शक्तिशाली आयुर्वेदिक पूरक है। शरीर के रोग को मुक्त कर नया जीवन देने का काम करती है। एक अनोखा आयुर्वेदिक पूरक है जो यौन शक्ति को बढ़ाने में अधिक मदद करती है। यौन शक्ति में कमी और लिंग में तनाव नहीं आने वाली बीमारी से ग्रस्त पुरुषों के लिए संजीवनी का काम करती है। शिलाजीत कैप्सूल मुख्य रूप से पुरुषों के लिए बनाया गया है इसे महिलाएं इस्तेमाल नहीं कर सकती। क्योंकि यह कैप्सूल सिर्फ पुरुषों के लिए है सेक्स करते समय उनकी यौन शक्ति को बढ़ाने में मदद करती है।

कैसे काम करता है डाबर शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल

डाबर शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल सोना ,केसर ,अश्वगंधा मुशलिंदा, कांच बीज जैसी जड़ी बूटियों को मिलाकर बनाया जाता है। यह कैप्सूल पुरुष में शक्ति और जीवन शक्ति को बढ़ाने में मददगार बनती है। पुरुषों में यौन रोग के लिए डॉक्टर ज्यादातर परामर्श के रूप में डाबर शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल लेने की बात करते हैं ‌ इस कैप्सूल का सेवन करने से पुरुषों के शुक्राणु में भी वृद्धि होती है।

डाबर शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल खाने के फायदे

  • डाबर शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल खाने से शरीर की थकान पूरी तरह मिल जाती है इसके साथ ही शरीर में ऊर्जा के स्तर को बढ़ाती है।
  • डाबर शिलाजीत कैप्सूल के अंदर मूसली अश्वगंधा जैसी आयुर्वेदिक चीजें मिक्स होती है जो शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाती है
  • इलेक्ट्रॉल डिस्फंक्शन जिसे स्तंभ स्वप्नदोष नपुंसकता , लिंग में उत्तेजना और टाइटनेस को बढ़ाने के लिए शिलाजीत मददगार होती है।
  • बढ़ती उम्र के साथ योन प्रतिरोधक क्षमता में कमी आने लगती है जिससे सेक्स करते समय सारी क्षमता कमजोर होने लगती है ऐसे में शिलाजीत कैप्सूल खाने से यौन शक्ति नहीं बढ़ती बल्कि सेक्स करने की क्षमता अधिक बढ़ जाती है।
  • सेक्स करते समय गुप्तांगों की नसों में आई कमजोरी को ताकतवर बनाने के लिए शिलाजीत कैप्सूल बहुत ही उपयोगी है।
  • डाबर शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल खाने से सिर्फ यौन शक्ति नहीं बढ़ती बल्कि जोड़ों का दर्द अर्थराइज जैसी बीमारियां भी ठीक होती हैं।

डाबर शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल खाने के नुकसान

शिलाजीत
  • डाबर शिलाजीत कैप्सूल अधिक खाने से या फिर गलत तरीके से खाने से शरीर को नुकसान पहुंच सकता है
  • शराब पीने के बाद अगर कोई भी पुरुष शिलाजीत का सेवन करता है तो इसके दुष्परिणाम देखने को मिलते हैं
  • ऐसे व्यक्ति जो पहले से किसी गंभीर बीमारी से जूझ रहे हैं इन लोगों को शिलाजीत कैप्सूल खाने से दूरी बनानी चाहिए।
  • एचआईवी और एड्स से पीड़ित व्यक्ति डाबर शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल का सेवन न करें।
  • 1 दिन में एक ही गोली का सेवन करना चाहिए इससे अधिक डाबर शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल खाने से बेचैनी घबराहट पसीना आना चक्कर आना जैसी चीजें नजर आ सकती हैं।
  • एक्सपायर हो चुके डाबर शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल खाने से आपकी जान भी जा सकती है।‌

शिलाजीत में सबसे अच्छा कैप्सूल कौन सा है

दोस्तों जैसा कि हमने आपके ऊपर बताया शिलाजीत कैप्सूल खाने से यौन शक्ति और मर्दाना ताकत बढ़ती है इसलिए हमें सेक्स से कुछ उपरांत पहले शिलाजीत कैप्सूल का सेवन करना चाहिए। लेकिन कई बार हमें यह पता नहीं होता है कि हमें कौन सा और किस कंपनी का शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल खाना चाहिए। दोस्तों बाजार में विभिन्न प्रकार की कंपनियों के शिलाजीत कैप्सूल बिक रहे हैं इसमें कुछ असली और कुछ नकली हैं लेकिन डाबर शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल सबसे असरदार और प्रचलित है। आप इसका सेवन करने से पहले आपने फैमिली डॉक्टर की परामर्श के साथ डाबर शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल ले।

डाबर शिलाजीत कैप्सूल कितने दिनों में खाना चाहिए

कई बार देखा गया है कि कुछ पुरुष इस बात से अनजान होते हैं की डाबर शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल कैसे खाएं और कितने दिनों में खाना चाहिए हम आपको बताते हैं कि शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल भले ही आयुर्वेदिक पूरा को लेकिन इसे अधिक मात्रा में लेने से शरीर में काफी साइड इफेक्ट रोशन हो सकते हैं इसलिए एक माह में सिर्फ एक डाबर शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल खाना चाहिए।

डाबर शिलाजीत का कितने दिनों में असर दिखता है

जिसमें पुरुष नपुंसकता की शिकायत हो बांझपन की शिकायत हो या डाबरशिलाजीत गोल्ड कैप्सूल उसके लिए रामबाण से कम नहीं है। एक स्रोत के अनुसार 605 पुरुषों के एक ग्रुप ने भोजन के बाद 90 दिनों के लिए दिन में दो बार शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल लिया। पाया गया कि 60% पुरुषों के शुक्राणु में वृद्धि देखी गई उनकी सेक्स क्षमता बढ़ी शारीरिक क्षमता बढ़ी लिंग में टाइटनेस और अत्यधिक ताकत आई। और बचे 12% पुरुषों के अंदर धीरे-धीरे गतिशीलता के साथ शुक्राणु में वृद्धि हुई।

डाबर शिलाजीत का सेवन कैसे करना चाहिए

आपको बता दें कि डाबर शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल की तासीर गर्म होती है या पचने में भारी होती है गर्मियों के समय इसे अधिक मात्रा में नहीं लिया जा सकता। अगर ऐसा करते हैं तो हमें अन्य बीमारियां और इसके साइड इफेक्ट देखने को मिलते हैं। अब समझते हैं शिलाजीत का सेवन कैसे करना चाहिए। डाबर शिलाजीत पाउडर एक छोटा सा चम्मच लेने से आप की मर्दानगी और सेक्स क्षमता को दुगना कर देगा। हर मोड़ के साथ टेस्टोरोन की क्षमता को बढ़ा देगा साथ ही सेक्स की अवधि को भी बढ़ाने में मददगार साबित होगा। डाबर शिलाजीत पाउडर को अगर आप दूध के साथ मिलाकर सेवन करते हैं जय काफी फायदेमंद होगा। इसके साथ ही खून की कमी प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाएगा। इतना ही नहीं डायबिटीज से ग्रसित मरीजों के लिए शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल रामबाण इलाज है। आपके अंदर कमजोर इम्यूनिटी सिस्टम को बढ़ाने में मददगार साबित हो सकता है।

डाबर शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल किसे नहीं देना चाहिए

डाबर शिलाजीत का सेवन पुरुष के अलावा और कोई नहीं कर सकता। गर्मियों में एलर्जी के चलते त्वचा पर फोड़े फुंसी रेसेज , इरिटेशन जैसी परेशानियां दिखने लगती हैं। यह सब अधिक मात्रा में वियाग्रा या शिलाजीत लेने से हो सकता है। शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल का सेवन पहले से बीमार व्यक्ति को नहीं करना चाहिए। साथ ही यदि किसी व्यक्ति को एचआईवी एड्स संबंधी कोई गंभीर बीमारी हैं तो शिलाजीत कैप्सूल का सेवन नहीं करना चाहिए।

1 दिन में कितनी मात्रा में डाबर शिलाजीत का सेवन करना चाहिए

अजीत का सेवन कितने मात्रा पर करना है यह इस बात पर निर्भर करता है। कि आप शिलाजीत किस उद्देश्य के लिए खा रहे हैं। शिलाजीत का उपयोग शारीरिक शक्ति के लिए ले रहे हैं 1 ग्राम प्रति 10 किलोग्राम वजन के हिसाब से लेना होगा। उदाहरण के तौर पर अगर आपका वजन 60 किलो है तो आपको 6 ग्राम शिलाजीत का सेवन करना चाहिए। अगर आपका ब्लड प्रेशर बढ़ाने के लिए इसलिए कि खा रहे हैं तो 1.25 प्रति ग्राम 10 किलो वजन के हिसाब से लेना होगा। अगर आपका वजन 60 किलोग्राम है तो आप कॉल 7.5 ग्राम शिलाजीत का सेवन कर सकते हैं। नपुंसकता और मर्दाना के लिए 1 .4 ग्राम शिलाजीत का सेवन कर सकते हैं। सामान्य तौर पर शिलाजीत की अनुशासित खुराक 300 से 500 मिलीग्राम पर दिन है।

Leave a Comment